tag manger - बिहार : टिशू कल्चर केले के पौधों से 13 महीनों में फल से अच्छी आय, 50% तक सब्सिडी – KhalihanNews
Breaking News

बिहार : टिशू कल्चर केले के पौधों से 13 महीनों में फल से अच्छी आय, 50% तक सब्सिडी

बिहार सरकार टिशू कल्चर केले की खेती करने वाले किसानों को उनकी लागत का 50 प्रतिशत अनुदान भी देती है| बिहार के भागलपुर में टिशू कल्चर केले की खेती सबसे ज्यादा होती है| उद्यान विभाग 100 हेक्टेयर में टिश्यू कल्चर केले की खेती करने के लिए किसानों को मदद कर रही है| किसानों को केले की खेती के लिए प्रति हेक्टेयर 63500 रुपये का अनुदान भी मिलेगा| यह अनुदान पहले साल 75 प्रतिशत और दूसरे साल 25 प्रतिशत मिलेगा| अनुदान के लिए किसानों को आनलाइन आवेदन करना पड़ेगा| किसानों को पौधा उपलब्ध कराने से पहले आवेदन की जांच भी की जाएगी| भागलपुर जिले में 1402 हेक्टेयर में केले की खेती की जा रही है|

देश में केले की 500 से अधिक प्रजातियां हैं| इसमें टिशू कल्चर केला किसानों के लिए सबसे अधिक मुनाफा देना वाला फल है| इसका पौधा 13 से 15 महीने में फल देने लगता है| जबकि अन्य प्रजातियों के केले के पौधे को तैयार होने में 16 से 17 महीने लग जाते हैं|

किसान टिशू कल्चर केले की खेती करते हैं तो वे 24 से 25 महीने के अंदर दो फसल काट सकते हैं| टिशू कल्चर केले की खासियत है कि इससे तैयार पौधों से 30 से 35 किलो प्रति पौधा केला मिलता है| ये पौधे स्वस्थ और रोग रहित होते हैं. सभी पौधों में पुष्पन, फलन व कटाई एक साथ होती है|

टिशू कल्चर केला औषधीय गुणों से भरपूर है. यह किसानों के लिए काफी फायदेमंद है| इस केले की खेती कर किसान प्रति एकड़ साढ़े चार लाख रुपये तक कमा सकते हैं. यह फल विटामिंस और मिनरल्स से भरपुर है| लोग इसे हर मौसम में खाना पसंद करते हैं| इसमें कार्बोहाइड्रेट की प्रचुर मात्रा होती है, जिससे हमारे शरीर को पोषक तत्व मिलते हैं| पका केला विटामिन ए, बी और सी का अच्छा स्रोत होता है| इसके नियमित सेवन से बहुत से बीमारियों का खतरा कम होता है| इसके अलावा यह गठिया, उच्च रक्तचाप, अल्सर और किडनी के विकारों से संबंधित रोगों से बचाव में भी सहायक होता है|

About admin

Check Also

बिहार : दो महीने में ढाई लाख मनरेगा जाॅब कार्ड ख़त्म, पिछले साल 21 लाख हुए

अलग-अलग कारणों से बिहार में बीते दो महीने में करीब छह ढाई लाख मजदूरों के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

https://mostbetaz2.com, https://mostbet-azerbaijan.xyz, https://mostbet-royxatga-olish24.com, https://vulkanvegasde2.com, https://mostbetsportuz.com, https://mostbet-az-24.com, https://mostbet-ozbekistonda.com, https://1xbet-az24.com, https://mostbet-azerbaycan-24.com, https://mostbet-azer.xyz, https://mostbet-qeydiyyat24.com, https://1win-azerbaycanda24.com, https://1winaz777.com, https://pinup-qeydiyyat24.com, https://pinup-bet-aze1.com, https://mostbet-az.xyz, https://1x-bet-top.com, https://mostbetuzbekiston.com, https://mostbetuztop.com, https://1xbetaz777.com, https://kingdom-con.com, https://1xbetsitez.com, https://vulkan-vegas-24.com, https://mostbet-azerbaijan2.com, https://mostbet-uz-24.com, https://mostbetuzonline.com, https://1win-az24.com, https://vulkanvegaskasino.com, https://1xbet-azerbaycanda.com, https://mostbet-oynash24.com, https://vulkan-vegas-bonus.com, https://vulkan-vegas-888.com, https://pinup-bet-aze.com, https://1xbetaz888.com, https://mostbetaz777.com, https://1win-azerbaijan2.com, https://mostbetsitez.com, https://mostbet-kirish777.com, https://vulkan-vegas-casino2.com, https://1winaz888.com, https://mostbettopz.com, https://most-bet-top.com, https://mostbet-azerbaycanda.com, https://pinup-az24.com, https://1win-az-777.com, https://vulkan-vegas-kasino.com, https://vulkanvegas-bonus.com, https://1xbetaz2.com, https://1win-azerbaijan24.com, https://1xbet-az-casino2.com, https://mostbet-azerbaycanda24.com, https://1xbetcasinoz.com, https://1xbetaz3.com, https://mostbet-uzbekistons.com, https://1xbet-azerbaycanda24.com, https://1xbet-azerbaijan2.com, https://vulkan-vegas-spielen.com, https://mostbetcasinoz.com, https://1xbetkz2.com, https://pinup-azerbaijan2.com, https://mostbet-az24.com, https://1win-qeydiyyat24.com, https://1xbet-az-casino.com, https://pinup-azerbaycanda24.com, https://vulkan-vegas-erfahrung.com