tag manger - खुश्बूदार चावल की कम सिंचाई व अधिक पैदावार वाली रोग-रहित पांच उन्नत किस्में – KhalihanNews
Breaking News

खुश्बूदार चावल की कम सिंचाई व अधिक पैदावार वाली रोग-रहित पांच उन्नत किस्में

देश में धान उत्पादन के लिए कई सुगंधित और उन्नत किस्मों का विकास किया है | ये धान की विकसित किस्में हैं, जो सामान्य किस्मों की तुलना में काफी बेहतर उत्पादन देती हैं | इन किस्मों में कीट एवं रोगों के प्रकोप की सम्भावना भी कम होती है और यह उच्च पैदावार के लिए जाने जाते हैं |

कृषि वैज्ञानिकों ने धान की कई ऐसी किस्में विकसित की हैं, जिनकी मदद से किसान आसानी से कम पानी में भी बेहतर उपज प्राप्त कर सकते हैं |

भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान (आईएआरआई) के सहयोग से भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (आईसीएआर) द्वारा विकसित किया गया था | यह एक अर्ध-बौनी किस्म है जो 135-140 दिनों में पक जाती है और उत्तर भारत के सिंचित क्षेत्रों में खेती के लिए उपयुक्त है | पूसा-1401 के फायदों में से एक इसकी उच्च उपज क्षमता है | यह प्रति हेक्टेयर 4-5 टन धान का उत्पादन कर सकता है, जो पारंपरिक बासमती चावल की किस्मों से काफी अधिक है | यह इसे उन किसानों के बीच एक लोकप्रिय विकल्प बनाता है जो अपनी पैदावार बढ़ाने और अपनी लाभप्रदता में सुधार करना चाहते हैं | पूसा-1401 का एक अन्य लाभ इसकी अच्छी गुणवत्ता वाला अनाज है, जिसमें लंबे और पतले दाने, उत्कृष्ट सुगंध और अच्छे खाना पकाने के गुण हैं | पूसा-1401 को विभिन्न जैविक और अजैविक तनावों के प्रति अपनी सहनशीलता के लिए भी जाना जाता है |

भारत में शेर-ए-कश्मीर कृषि विज्ञान और प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय द्वारा विकसित किया गया था | यह एक अर्ध-बौनी किस्म है जो 135-140 दिनों में पकती है और जम्मू-कश्मीर के सिंचित क्षेत्रों में खेती के लिए उपयुक्त है | SKUAST-K के फायदों में से एक इसकी उच्च उपज क्षमता है | यह प्रति हेक्टेयर 6-7 टन धान का उत्पादन कर सकता है, जो पारंपरिक चावल किस्मों की तुलना में काफी अधिक है | SKUAST-K का एक अन्य लाभ सूखा, जलमग्नता और लवणता जैसे विभिन्न तनावों के प्रति इसकी सहनशीलता है |

पंत धान-12 धान की अधिक उपज देने वाली किस्म है जिसे भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (ICAR) ने जीबी पंत यूनिवर्सिटी ऑफ एग्रीकल्चर एंड टेक्नोलॉजी द्वारा विकसित किया है | यह एक अर्ध-बौनी किस्म है जो 110-115 दिनों में पक जाती है और उत्तर भारत के सिंचित क्षेत्रों में खेती के लिए उपयुक्त है | पंत धान-12 के फायदों में से एक इसकी उच्च उपज क्षमता है | यह प्रति हेक्टेयर 7-8 टन अनाज का उत्पादन कर सकता है, जो पारंपरिक गेहूं की किस्मों की तुलना में काफी अधिक है |

पूसा 834 बासमती चावल की उच्च उपज वाली किस्म है जिसे भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान द्वारा विकसित किया गया था | यह एक अर्ध-बौनी किस्म है जिसकी परिपक्वता अवधि लगभग 125-130 दिनों की होती है | पूसा 834 के फायदों में से एक इसका जीवाणु पत्ती झुलसा रोग के प्रति प्रतिरोध है, जो चावल की खेती में एक आम समस्या है | यह लवणता के प्रति भी सहिष्णु है और उच्च मिट्टी की लवणता के स्तर वाले क्षेत्रों में बढ़ सकता है | यह इसे कम गुणवत्ता वाली मिट्टी या पानी की कमी वाले क्षेत्रों में किसानों के लिए एक अच्छा विकल्प बनाता है | पूसा 834 का एक अन्य लाभ इसकी उच्च उपज क्षमता है | यह प्रति हेक्टेयर 6-7 टन धान का उत्पादन कर सकता है, जो पारंपरिक बासमती किस्मों की तुलना में काफी अधिक है |

PHB 71 धान की एक उच्च उपज वाली किस्म है जिसे फिलीपींस में अंतर्राष्ट्रीय चावल अनुसंधान संस्थान (IRRI) द्वारा विकसित किया गया था | यह एक अर्ध-बौनी किस्म है जो 105-110 दिनों में पकती है और दक्षिण और दक्षिण पूर्व एशिया के सिंचित क्षेत्रों में खेती के लिए उपयुक्त है | PHB 71 के फायदों में से एक इसकी उच्च उपज क्षमता है. यह प्रति हेक्टेयर 6-7 टन धान का उत्पादन कर सकता है, जो पारंपरिक चावल किस्मों की तुलना में काफी अधिक है | PHB 71 का एक अन्य लाभ इसकी ब्लास्ट रोग प्रतिरोधक क्षमता है, जो चावल की खेती में एक बड़ी समस्या है | यह बैक्टीरियल लीफ ब्लाइट और टुंग्रो वायरस जैसे अन्य रोगों के प्रति भी सहिष्णु है, जो चावल की फसलों में महत्वपूर्ण उपज हानि का कारण बन सकते हैं |

 

About admin

Check Also

पानी के क्षारीय तत्त्व को खत्म करता है' 'खंभाती कुआं

पानी के क्षारीय तत्त्व को खत्म करता है’ ‘खंभाती कुआं

खारी पानी राजस्थान, हरियाणा, गुजरात में बड़ी समस्या है। अब खंभाती कुआं इस समस्या को …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

https://mostbetaz2.com, https://mostbet-azerbaijan.xyz, https://mostbet-royxatga-olish24.com, https://vulkanvegasde2.com, https://mostbetsportuz.com, https://mostbet-az-24.com, https://mostbet-ozbekistonda.com, https://1xbet-az24.com, https://mostbet-azerbaycan-24.com, https://mostbet-azer.xyz, https://mostbet-qeydiyyat24.com, https://1win-azerbaycanda24.com, https://1winaz777.com, https://pinup-qeydiyyat24.com, https://pinup-bet-aze1.com, https://mostbet-az.xyz, https://1x-bet-top.com, https://mostbetuzbekiston.com, https://mostbetuztop.com, https://1xbetaz777.com, https://kingdom-con.com, https://1xbetsitez.com, https://vulkan-vegas-24.com, https://mostbet-azerbaijan2.com, https://mostbet-uz-24.com, https://mostbetuzonline.com, https://1win-az24.com, https://vulkanvegaskasino.com, https://1xbet-azerbaycanda.com, https://mostbet-oynash24.com, https://vulkan-vegas-bonus.com, https://vulkan-vegas-888.com, https://pinup-bet-aze.com, https://1xbetaz888.com, https://mostbetaz777.com, https://1win-azerbaijan2.com, https://mostbetsitez.com, https://mostbet-kirish777.com, https://vulkan-vegas-casino2.com, https://1winaz888.com, https://mostbettopz.com, https://most-bet-top.com, https://mostbet-azerbaycanda.com, https://pinup-az24.com, https://1win-az-777.com, https://vulkan-vegas-kasino.com, https://vulkanvegas-bonus.com, https://1xbetaz2.com, https://1win-azerbaijan24.com, https://1xbet-az-casino2.com, https://mostbet-azerbaycanda24.com, https://1xbetcasinoz.com, https://1xbetaz3.com, https://mostbet-uzbekistons.com, https://1xbet-azerbaycanda24.com, https://1xbet-azerbaijan2.com, https://vulkan-vegas-spielen.com, https://mostbetcasinoz.com, https://1xbetkz2.com, https://pinup-azerbaijan2.com, https://mostbet-az24.com, https://1win-qeydiyyat24.com, https://1xbet-az-casino.com, https://pinup-azerbaycanda24.com, https://vulkan-vegas-erfahrung.com