tag manger - भारत में कुपोषण के शिकार हैं करोड़ों बच्चे – KhalihanNews
Breaking News

भारत में कुपोषण के शिकार हैं करोड़ों बच्चे

साढ़े तीन ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था वाले भारत में अभी भी करोड़ों बच्चे कुपोषण की समस्या से जूझ रहे हैं। सवाल उठ रहा है कि क्या सरकारों की प्राथमिकताएं बदल जाने से यह समस्या बढ़ रही है।

आजादी के 75 साल बाद भी हम अपने बच्चों के लिए पोषण की समुचित व्यवस्था नहीं कर पाए हैं। दुनिया भर में कुपोषण की स्थिति को लेकर संयुक्त राष्ट्र द्वारा जारी नई रिपोर्ट के हवाले से पता चला है कि देश में अभी भी पांच वर्ष से कम उम्र के 2.19 करोड़ बच्चों का वजन उनकी ऊंचाई की तुलना में कम है। मतलब की देश के 18.7 फीसदी बच्चे वेस्टिंग का शिकार हैं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन की जारी एक रिपोर्ट के अनुसार वेस्टिंग, कुपोषण से जुड़ी एक ऐसी समस्या है जिसमें बच्चों का वजन उनकी ऊंचाई के लिहाज से कम रह जाता है। इस समस्या में बच्चा अपनी लम्बाई की तुलना में काफी पतला रह जाता है।देखा जाए तो दक्षिण सूडान के बाद इस मामले में भारत की स्थिति सबसे ज्यादा बदतर है। गौरतलब है कि दक्षिण सूडान में पांच वर्ष से कम उम्र के करीब 22.7 फीसदी बच्चे वेस्टिंग की इस समस्या से जूझ रहे हैं। वहीं यमन में 16.4 फीसदी, सूडान में 16.3 फीसदी और श्रीलंका में 15.1 फीसदी बच्चे इस समस्या का शिकार हैं।

ऐसा नहीं है कि भारत में सिर्फ वेस्टिंग के मामले में स्थिति खराब है। यदि बच्चों में कुपोषण को देखें तो देश में स्टंटिंग की समस्या भी काफी गंभीर है। रिपोर्ट में जारी आंकड़ों के मुताबिक भारत में करीब 31.7 फीसदी बच्चे अपनी उम्र के लिहाज से ठिगने हैं। वहीं वैश्विक स्तर पर देखें तो इस मामले में देश पहले स्थान पर है। जहां इतनी बड़ी संख्या में बच्चे स्टंटिंग का शिकार हैं।

वेस्टिंग के शिकार बच्चों की संख्या के लिहाज से देखें तो भारत इन देशों से कहीं आगे है। दुनिया में वेस्टिंग के शिकार करीब आधे बच्चे भारत में हैं। यह जानकारी संयुक्त राष्ट्र द्वारा जारी रिपोर्ट “लेवल्स एंड ट्रेंड इन चाइल्ड मालन्यूट्रिशन 2023” में सामने आई है, जिसे संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (यूनिसेफ), विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) और वर्ल्ड बैंक ने संयुक्त रूप से जारी किया है।

दुनिया में पांच वर्ष से कम उम्र के करीब 4.5 करोड़ बच्चे वेस्टिंग का शिकार हैं। मतलब की दुनिया के 6.8 फीसदी बच्चे कुपोषण की इस समस्या से जूझ रहे हैं। आंकड़ों के मुताबिक दक्षिण एशिया में इसका प्रसार सबसे ज्यादा है, जहां भारत में स्थिति सबसे ज्यादा खराब है।

बच्चों में वेस्टिंग के लिए मुख्य तौर पर उनके भोजन में पोषक तत्वों की कमी या बार-बार होने वाली बीमारियां जिम्मेवार हैं। यह स्थिति बच्चों के जीवन तक को खतरे में डाल सकती हैं। इतना ही नहीं वेस्टिंग का शिकार बच्चों में रोग प्रतिरोधक क्षमता काफी कमजोर होती है। जो लम्बे समय में उनके शारीरिक और मानसिक विकास को प्रभावित कर सकती है।

कुपोषण कोई ऐसी बीमारी नहीं जिसे ठीक न किया जा सके। बस हमें इसपर ध्यान देने की जरूरत है। न केवल नीति स्तर पर बल्कि परिवार में भी बच्चों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए उन्हें कैसा आहार दिया जाता है, इसको ध्यान में रखकर इस समस्या को काफी हद तक सीमित किया जा सकता है।

About admin

Check Also

भारत में जरूरत पूरी करने को म्यांमार से मंगाई गई ड्यूटी फ्री मक्का

सरकार की तरफ से पिछले इथेनॉल उत्पादन के लिए गन्ने के प्रयोग पर प्रतिबंध लगाने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

https://mostbetaz2.com, https://mostbet-azerbaijan.xyz, https://mostbet-royxatga-olish24.com, https://vulkanvegasde2.com, https://mostbetsportuz.com, https://mostbet-az-24.com, https://mostbet-ozbekistonda.com, https://1xbet-az24.com, https://mostbet-azerbaycan-24.com, https://mostbet-azer.xyz, https://mostbet-qeydiyyat24.com, https://1win-azerbaycanda24.com, https://1winaz777.com, https://pinup-qeydiyyat24.com, https://pinup-bet-aze1.com, https://mostbet-az.xyz, https://1x-bet-top.com, https://mostbetuzbekiston.com, https://mostbetuztop.com, https://1xbetaz777.com, https://kingdom-con.com, https://1xbetsitez.com, https://vulkan-vegas-24.com, https://mostbet-azerbaijan2.com, https://mostbet-uz-24.com, https://mostbetuzonline.com, https://1win-az24.com, https://vulkanvegaskasino.com, https://1xbet-azerbaycanda.com, https://mostbet-oynash24.com, https://vulkan-vegas-bonus.com, https://vulkan-vegas-888.com, https://pinup-bet-aze.com, https://1xbetaz888.com, https://mostbetaz777.com, https://1win-azerbaijan2.com, https://mostbetsitez.com, https://mostbet-kirish777.com, https://vulkan-vegas-casino2.com, https://1winaz888.com, https://mostbettopz.com, https://most-bet-top.com, https://mostbet-azerbaycanda.com, https://pinup-az24.com, https://1win-az-777.com, https://vulkan-vegas-kasino.com, https://vulkanvegas-bonus.com, https://1xbetaz2.com, https://1win-azerbaijan24.com, https://1xbet-az-casino2.com, https://mostbet-azerbaycanda24.com, https://1xbetcasinoz.com, https://1xbetaz3.com, https://mostbet-uzbekistons.com, https://1xbet-azerbaycanda24.com, https://1xbet-azerbaijan2.com, https://vulkan-vegas-spielen.com, https://mostbetcasinoz.com, https://1xbetkz2.com, https://pinup-azerbaijan2.com, https://mostbet-az24.com, https://1win-qeydiyyat24.com, https://1xbet-az-casino.com, https://pinup-azerbaycanda24.com, https://vulkan-vegas-erfahrung.com